मोदी सरकार की नव उदारवादी नीतियों एवं कॉरपोरेट लूट के खिलाफ संघर्ष को तेज करने का निर्णय लिया

रायपुर :-ट्रेड यूनियन सेंटर ऑफ इंडिया (टी यु सी आई) ने ग्राम गातापार अभनपुर में”टी यु सी आई”का राज्य सम्मेलन सम्पन्न हुआ। कॉमरेड हेमा भारती, ओम प्रकाश साहू,देवसिंह तारक,रुक्मिणी साहू एवं लक्ष्मी कोसले की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में पार्टी के राज्य सचिव कॉमरेड सौरा एवं कॉमरेड हेमंत कुमार भी शामिल हुए।सर्वप्रथम केंद्रीय समन्वय समिति द्वारा पेश किया गया टी यु सी आई का 10 वा मसौदा कार्यक्रम को पढ़ा गया चर्चा उपरांत स्वीकार किया गया।5लोगो को लेकर राज्य सांगठनिक कमिटी का गठन किया गया जिसमे कॉमरेड हेमा भारती, दुर्गा यादव,लीला नारंग,ओमप्रकाश साहू, देवसिंह तारक होंगे। हेमाभारती को अध्यक्ष एवं दुर्गा यादव को सचिव चुना गया।भुबनेश्वर उड़ीसा में होने वालेअखिल भारतीय सम्मेलन के लिए 12 प्रतिनिधियो का चुनाव किया गया।
सम्मेलन को संबोधित करते हुए भा क पा (मा ले) रेड स्टार के राज्य सचिव कॉमरेड सौरा ने कहा कि राज्य में टी यु सी आई के नेतृत्व में मजदूरों ने श्रम कानून लागू करने, न्यूनतम मजदूरी देने,फर्जी केस बनाने के खिलाफ, एवं जीने लायक वेतन की मांग को लेकर पिछले दिनों कार्यक्रम करते रहे हैं।आज मालिको की गुंडागर्दी वा तानाशाही और ज्यादा बढ़ गई है, और राज्य सरकार एवं पुलिस मालिको के इशारे पर काम कर रहे है। देश में आज हालात और भी ज्यादा बदतर हो गई है,सरकार जनता को शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार देने के बजाय केंद्र की आर एस एस /बी जे पी की फ़ासिस्ट मोदी सरकार जो अडानी अम्बानी की तलवे चाट रही है,देश का संविधान को खत्म करके मनुस्मृति को लाकर हिन्दू राष्ट्र की बात करती है, मोदी सरकार मालिको के हित मे ,मजदूर ने लंबे समय से लड़ कर जो अधिकार हासिल किये थे ,उन सारे अधिकारों को खत्म कर दिया है।44श्रम कानूनो को ख़त्म कर 4श्रम कोड को लेकर आया है। 8 घटें काम की अवधि के बजाय 12से14 घन्टे काम कराने के लिये अध्यादेश ला रही है, 40 कारोड प्रवासी कैजुवल मजदूरों की जिंदगी तबाह कर दिया है,14 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं बेरोजगारी 28 प्रतिशत से अधिक हो गई है और मोदी सरकार कहती है किअच्छे दिन आएंगे आत्मनिर्भर बनाने की बात कही जा रही हैंजो एक जुमला है।
पूंजीवादी साम्राज्यवादी व्यवस्था के फ़ासिस्ट दलाल मोदी सरकार ने वर्तमान संकट का बोझ मेहनतकश मजदूर, किसान, दलित, आदिवासियों क़े कंधो पर डाल कर पूंजीपतियों की सेवा करने पर तुली है। कॉरपोरेट घरानों की दलाल आरएसएस/बी जे पी सरकार देश में नवउदारवादी नीतियों को लागू कर रही है, पिछले45 सालों में आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी है,महंगाई आसमान छू रही है, भ्रस्टाचार दिन बा दिन तेजी से बढ़ रही है, वर्तमान समय में टी यु सी आईं की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है,आर्थिक लड़ाई के साथ मजदूर वर्ग को राजनीति से लैस करने की जरूरत है।
आज सभी मजदूर एवं ट्रेड यूनियनो की जिम्मेदारी है कि एकजुट होकर कॉरपोरेट लूट एवं इस भ्रष्ट व्यवस्था के खिलाफ सँघर्ष को तेज करने की जरूरत है।अंत में भुबनेश्वर का अखिल भारतीय सम्मेलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

[poll]

Related Articles

Back to top button
Close
Close