छत्तीसगढ़ संविदा कर्मचारी संघ अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर 03 जुलाई से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर 12 जुलाई को जल सत्याग्रह, विधायक डमरूधर पुजारी को ज्ञापन सौप संघ ने कि सविंदा कर्मचारियो कि मांग को विधानसभा सत्र मे उठाने का अनुरोध

 


गरियाबंद :- छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के आव्हान पर जिले के समस्त संविदा कर्मचारी एक सुत्रीय मांग ‘‘नियमितिकरण‘‘ हेतु 3 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। कांग्रेस सरकार के द्वारा शासन में आने से पूर्व कांग्रेस के घोषणा पत्र में शामिल करने एवं सरकार बनने के 10 दिवस के अंदर नियमितिकरण की कार्यवाही किये जाने का वादा किया गया था एवं वर्ष 2019 में अनियमित कर्मचारियों के मंच से माननीय श्री भुपेश बघेल मुख्यमंत्री छ.ग. शासन के द्वारा इस वर्ष किसानों के लिए आगामी वर्ष कर्मचारियों हेतु का वादा किया गया था परंतु साढ़े चार वर्ष बीत जाने के पश्चात भी नियमितीकरण का वादा अधुरा है।
छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के द्वारा इन बीते साढे़ चार साल में समय समय पर वेतन वृद्धि एवं नियमितीकरण हेतु आंदोलन किया जाता रहा है मगर शासन की संवादहीनता एवं वादा खिलाफी से आक्रोशित संविदा कर्मचारियों के द्वारा 3 जुलाई से अनिश्चितकालीन आंदोलन का बिगुल फुक दिया है जो अनवरत जारी है 10 जुलाई को मंत्रालय एवं गठित कमेटी का घेराव किये जाने हेतु प्रांत स्तर पर रैली निकाली गई जिसमें किसी भी उच्च अधिकारी के द्वारा ज्ञापन नहीं लिए जाने के फलस्वरूप समस्त संविदा कर्मचारियों के द्वारा ज्ञापन फाड़कर विरोध दर्ज किया गया एवं दिनांक 12 जुलाई जल सत्याग्रह के माध्यम से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।
जिला गरियाबंद के संविदा कर्मचारियों के द्वारा माननीय श्री डमरूधर पुजारी विधायक बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा को ज्ञापन सौंपकर विधानसभा सत्र में संविदा कर्मचारियों की आवाज बुलंद किये जाने का अनुरोध किया गया एवं विधायक महोदय के द्वारा 11 जुलाई को शासन के द्वारा कर्मचारियों पर लागु एस्मा की घोर निंदा की गई विधायक महोदय के द्वारा कहा गया कि इस प्रकार की दमन की निति शासन द्वारा सदैव अपनाई जा रही है कर्मचारी हितों का ध्यान रखना शासन का कर्तव्य है ना कि एस्मा जैसे कानुन का अवैध रूप से लागु किया जाना। आगामी विधानसभा सत्र में इस मुद्दे को उठाने एवं कर्मचारी हितों में सदैव साथ देने का आश्वासन दिया गया है।
संविदा कर्मचारियों के द्वारा एस्मा लागु होने के पश्चात भी सतत रूप से तुता धरना स्थल पर डटे हुए है एवं आज जल सत्याग्रह किया जा रहा है साथ ही 17 जुलाई को जेल भरो आंदोलन किया जाना प्रस्तावित है। विधायक महोदय से जिला संयोजक गिरिराज वर्मा, गोपाल गिरि गोस्वामी, विनोद साहु, अमरसिंह, छगन साहु, रमेश वर्मा महिला स्वास्थय कर्मियों सहित आदि संविदा कर्मचारियों के द्वारा मुलाकात किया गया।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

[poll]

Related Articles

Back to top button
Close
Close